ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
अमर भविष्यवाणियाँ
August 10, 2019 • डी.एस. परिहार

भविष्य जानने की इच्छा उतनी ही पुरानी है जितनी मानव सभ्यता। संसार के बीते इतिहास मे सटीक भविष्यवाणियों के अनेकों प्रामाणिक और हैरत-अंगेज मामले दर्ज है। ऐसे ही कुछ ऐतिहासिक मामले प्रस्तुत है।
प्रेसीडेंट कैनेडी की हत्या:- 
छठे दशक मे माल्वा डी उत्तर पूर्व कनाडा के हायलैंड विख्यात भविष्यवक्ता थीं उन्हांेने सन 1961 मे भविष्यवाणी की थी कि आगामी राष्ट्रपति के चुनाव मे जाॅन एफ कैनेडी भारी बहुमत से जीतेंगे और 22 नवम्बर 1061 का प्रेसीडेंट कैनेडी की हत्या कर दी जायेगी। इस भविष्यवाणी को एक लिफाफे में सील बंद करके कई लोगों के समक्ष उसकी सरकारी विभाग में रजिस्ट्री करवाई। राष्ट्रपति की हत्या के बाद जब लिफाफे की सील खोली गई तो लोग आश्चर्यचकित रह गये क्योंकि उसमे वही तारीख लिखी थी जिस तारीख को प्रेसीडेंट कैनेडी की हत्या हुयी थी।
जाॅर्डन के शासक का कत्लः- 1950 मे जाॅर्डन के भविष्यवक्ता शेख अब्दुल रजा ने भविष्यवाणी की थी कि 1951 देश के शासक अब्दुल्ला का कत्ल होगा 1951 मे अचानक ही उनका कत्ल हो गया और भविष्यवाणी आश्चर्यजनक रूप से सच हुयी।
बेटे के हाथों मृत्यु की भविष्यवाणी- थाईलैण्ड के राजा फयाकांग ने अपने पुत्र के जंम पर भविष्यवाणी की थी कि उसका पुत्र ही उसकी हत्या करेगा किसी ने भी इस भविष्यवाणी पर यकीन नही किया लेकिन 30 साल बाद राजकुमार ने राजगददी के लालच मे अपने पिता की हत्या कर दी भविष्यवाणी सच हुयी।
स्पेनिश राजवंश के अन्त की भविष्यवाणी:- स्पेन के राजा फिलिप द्वितीय को एक ज्योतिषी ने बताया था कि स्पेन का राजवंष 24 पीढ़ी के बाद नष्ट हो जायेगा राजा फिलिप ने इस भविष्यवाणी पर गहरा विश्वास करते हुये इस्कोनियल नामक इमारत बनवाई और जिसके एक विशेष कक्ष मे भावी 24 राजाओं के लिये 24 कब्रे बनवाई शताब्दियों पूर्व की गई भविष्यवाणी अक्षरशः सत्य हुयी 1929 मे रानी मारिया क्रिस्टीना की मृत्यु के बाद 24 वां राजा अल्फांसों बैठा जिसे दो साल बाद गददी छोड़नी पड़ी जब स्पेन मे गणतंत्र कर स्थापना हुयी।
घोड़े से गिर कर मृत्यु की भविष्यवाणी- स्काॅटलैण्ड के राजा अलैक्जेंडर को एक ज्योतिषी ने बताया था कि उसकी मृत्यु घोड़े के बिदकने से होगी राजा ने इससे बचने के लिये अपने घोडे को मरवा दिया इसके कुछ दिन बाद राजा एक दूसरे घोड़े पर बैठकर कही जा रहा था कि एक अजूबा देखकर घोड़ा बिदक गया और राजा सहित एक गहरे गढढे मे जा गिरा राजा और घोड़ दोनो मर गये।