ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
तलाक नाशक चमत्कारी रत्न है ब्लू टोपाज
June 24, 2019 • पं. शिव शंकर त्रिवेदी

ब्लू टोपाज वास्तव मे क्वार्टज़ जाति का रत्न है। जो देखने मे सुखद, शीतल, नीलकमल के समान नीला, फिरोजी या हल्का आसमानी रंग का अति मनमोहक, शांति दायक, क्रोधनाशक रत्न है। ग्रीक मिथकों मे इसे सौन्दर्य की देवी वीनस से जोड़ा गया है। ज्योतिष मे इसे शुक्र, गुरू व शनि ग्रह के उपचार मे प्रयोग किया जाता है। भारत मे इसका प्रयोग कम किया जाता है। लेकिन इसके चमत्कारी गुणों को देखते हुये वर्तमान दौर के ज्योतिषी इसका खूब उपयोग कर रहे है। यह तुरन्त असर दिखाता है। पाश्चात्य और ज्योतिषियों के अनुसार निम्न कठिन परिस्थितियों मे यह आश्चर्यजनक लाभ देता है।
1. साढे साती या शनि की ढइया मे यह जातक को तुरन्त शांति देता है।
2. व्यापार मे घाटा या व्यापार मे लाभ वृद्धि या बिक्री कम होने पर इसको चांदी की प्लेट मे षुक्रवार को दुकान मे स्थापित करके नित्य इस पर गुलाब के फूल व गुलाब की अगरबत्ती जलाने से बिक्री व आय मे वृद्धि होती है।
3. अति क्रोधी, बेकाबू, या कर्कश वाणी बोलने वाले या, क्रोध के दौरे पड़ने, व्यर्थ बड़बड़ाने वाले पागलांे को इसे पहनाने से जातक को तुरन्त मानसिक शांति मिलती है। पैरीडाॅट के साथ इसे धारण करने से अनिद्रा, डिप्रैशन या निराषा के दौरे पड़ने या गंभीर उदासी का शिकार होने पर अति शीघ्र मानसिक शांति मिलती है।
4. निर्धनता, बेरोजगारी, बचत ना होने या कर्ज नाश हेतु इस स्टील या चांदी मे पहनने से रोजगार के नये अवसर प्राप्त होते है।
5. पत्नी या प्रेमिका के नाराज होने या रूठे पति या प्रेमी को वापस पाने के लिये दो ब्लू टोपाज की अंगूठी बनवाकर शुक्रवार को पहने एक अंगूठी या पैडल पत्नी या प्रेमिका या रूठे पति या प्रेमी को पहनाने से और दूसरी स्वयं पहनने से पति पत्नी मे अलगाव या तलाक रूक जाता है। रूठा प्रेम पुनः प्राप्त हो जाता है ।
6. अति ठंडा रत्न होने के कारण यह हाइपर टेंशन, उच्च रक्तचाप, एसिडिटी, अल्सर, खूनी व बादी पाइल्स, तेज बुखार, मुंह के छाले, लू लगने से बचाव, नकसीर फूटना, घाव भरना, पेचिश, डायरिया, फोड़े फुन्सी आदि रोगो को ठीक करता है।
7. सीलोनी गोमेद या उत्तम किस्म के नीलम के साथ पहनने से यह कैंसर के विस्तार रोकता व उसके दर्द को काबू करता है।
8. ब्लू टोपाज मे एंटी सेप्टिक व एंटी बायटिक गुण होने के कारण यह घाव भरता है।
9. यह आंत, लीवर के रोग, पीलिया, पेचिश मे लाभ देता है।
10. वृष, मिथुन, कन्या, तुला, मकर कुंभ लग्न के लिये यह रत्न सर्वाधिक लाभकारी है। मेष, धनु मीन लग्न के मध्यम तथा कर्क, वृश्चिक, सिंह के लिये सर्वाधिक मारक रत्न है।
11. ब्लू टोपाज के साथ माणिक धन हानि, संतान बाधा या मात्र कन्या संतान देता है।
12. चन्द्रमा के साथ चरित्रहीनता व धोखा मिलना देता है। कुंवारी लड़का या लड़की के पहनने पर घर से भाग जाने की घटना दे सकता है। रोमांस या एफेयर हेतु रत्नों का यह योग उत्तम है।
13. पन्ना के साथ, बुद्धिमान पत्नी, कला, फिल्म, संगीत, ड्रामा आदि मे सफलता देता है।
14. नीलम या गोमेद के साथ सेक्स योग तथा अपार धन लाभ देता है। केवल उपरोक्त शुभ लग्नों के ही लिये।
15. मूंगे के साथ पत्नी मे प्रेम बढाता है। तथा लव एफेयर व रोमांस देता है। कभी-कभी सेक्स योग या प्री -मैरिज सेक्स भी देता है।