ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
बुलन्द हौसले के साथ स्वतंत्र देव सिंह का स्वागत किया
July 25, 2019 • संदीप कुमार

उत्तर प्रदेश भारतीय राजनीतिक का हमेशा केन्द्र रहा और भारतीय राजनीति में इस प्रदेश दखल भी रहा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी गुजरात के होने बावजूद वारणसी को ही अपना संसदीय क्षेत्र चुना। इस प्रदेश ने देश को कई प्रधानमंत्री दिये पं. जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, श्रीमती इंदिरा गांधी, चैधरी चरण सिंह, राजीव गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह चन्द्रशेखर और वर्तमान प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी। प्रियंका गांधी ने भी अपनी राजनीतिक पारी का आरम्भ उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव के रूप की।
 भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन के बावजूद निरन्तर जनता में अपनी उपस्थित दर्ज कराने के साथ ही उत्साह भरने के लिए कार्यकत्ताओं लोकप्रिय नेता स्वतंत्र देव सिंह को प्रदेश का अध्यक्ष बनाने के साथ विधान सभा उप चुनाव की तैयारी भी करने में लग गई है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित नए प्रदेश अध्यक्ष के अभिनन्दन समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, स्वतंत्र देव सिंह का प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनना आम कार्यकत्ताओं की भावना के अनुरूप है। मुख्यमंत्री ने कहा, स्वतंत्र देव सिंह में संगठनात्मक कौशल कूट-कूट कर भरा है। अभिनंदन समारोह में के अवसर पर नवनियुक्त भाजपा अध्यक्ष  स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, सरकार के कामों की समीक्षा के बजाय विकास को जनान्दोलन बनाना चाहिए। भाजपा अध्यक्ष ने कहा, मोदी सरकार  का 2024 तक बुंदेलखंड समेत सभी देशवासियों के घर में पानी देने का लक्ष्य है। समारोह में निवर्तमान अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा, उनके लिए यह सुखद अवसर है कि पार्टी में सामान्य कार्यकत्र्ता से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत करने वाले को अपना पद भार सौंप रहे हैं।
 दूसरी तरफ सोनभद्र में 10 आदिवासियों की हत्या के लिए जिम्मेदार ग्राम प्रधान सहित दोषियों पर रासुका के तहत कार्यवाही करने की बात  और सहायता करने की बात भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही और मुख्यमंत्री ने कहा, गोलीकांड के लिए कांग्रेस व सपा जिम्मेदार है। सोनभद्र जाने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी जाने के लिए तत्पर रही। इस मुद्दे पर बसपा-सपा कांग्रेस से पिछड़ती दिखी। फिलहाल शनैः शनैः सोनभद्र मामला शांत होता जा रहा है। लेकिन उप चुनाव में भाजपा को ऐसी रणनीति बनानी होगी। सपा-बसपा और कांग्रेस से निपटने के लिए सोनभद्र घटना का वो राजनीतिक लाभ नहीं उठा पायें। भाजपा प्रदेश होने आगामी विधान सभा चुनाव के परिपेक्ष्य में अभी से ही तैयारी शुरू कर दी। भाजपा बुलन्द हौसले के साथ स्वतंत्र देव सिंह का स्वागत किया! भविष्य में भाजपा के समक्ष बेरोजगारी समस्या से निपटने के साथ ही कई चुनौतियां हैं। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जोड़ी आखिर कौन सी रणनीति बनायेंगे यह तो आने वाला समय ही बतायेगा।