ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
वृक्षारोपण पर्यावरण में जैव विविधता को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है
July 24, 2019 • समाचार

जिलाधिकारी रायबरेली, नेहा शर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के बचत भवन सभागार में जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक में निर्देश दिये है कि 9 अगस्त को चुनावी पैटर्न (इलेक्शन मोड) पर पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधों का रोपण किया जाना है तथा जनपद में 2565110 लाख पौधों का रोपण किया जाना है। जिसकी तैयारियां वन विभाग तथा सम्बन्धित विभाग के अधिकारी भली-भांति वृक्षारोपण महाकुम्भ के अन्तर्गत गड्ढा खुदान/अग्रिम मृदा कार्य पूर्ण करने के साथ ही ब्लाक स्तर पर सेक्टर वृक्षारोपण समन्वयक, न्याय पंचायत स्तर पर सेक्टर मजिस्टेªट, तहसील स्तर पर जोनल वृक्षारोपण समन्वयक के साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम प्रधान, वृक्ष अभिभावक तथा प्रचायत सचिव/ग्राम विकास अधिकारी से समन्वय बनाकर वृक्षारोपण कार्य को सम्पन्न करायेंगे। 9 अगस्त को ही पौधों रोपण की संकलित सूचना ग्राम पंचायत स्तरों से खण्ड विकास अधिकारियों को एक-एक घण्टे में उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने कहा कि 9 अगस्त 2019 को भारत छोड़ों आन्दोलन की 77वीं वर्षगांठ के अवसर पर नक्षत्र वृक्ष प्रसापिस सिनरेरिया (शमी) प्रजाति का भी रोपित किया जायेगा। 
 जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने कहा कि वृक्षारोपण का समुचित रख-रखाव, सुरक्षा तथा शत प्रतिशत सफलता सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण पर्यावरण में जैव विविधता को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। पर्यावरण में पारिस्थितिक संतुलन बनाए रखने के लिए जैव विविधता अत्यंत आवश्यक है। जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने डीएफओ तुलसीदास शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, अपर जिलाधिकारी वि0रा0 डा0 राजेश कुमार प्रजापति, अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम अभिलाष, समस्त एसडीएम, बीडीओं थाना प्रभारी आदि को निर्देश दिये है कि बारिश का खुशनुमा मौसम में संघन वृक्षारोपण अभियान 31 जुलाई तक किया जाना है। जिसमें अधिक से अधिक इमली, पाकड़, पीपल,  जामुन, आम आदि का वृक्षो का रोपण किया जाये तथा वन विभाग द्वारा जनपद के लक्ष्य को हरहाल में पूरा किया जाये। जिसकी तैयारियां पूरी तरह से कर ली जाये। ग्राम विकास, राजस्व, पंचायतीराज, विकास प्राधिकरण, उद्योग विभाग, लोक निर्माण, सिचाई, शिक्षा, पशुपालन, स्वास्थ्य, परिवर्हन, रेलवे, पुलिस, सहकारिता आदि विभाग अपने-अपने वृक्षरोपण के लक्ष्य को देखते हुए अपने-अपने पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। निःशुल्क पौध आपूर्ति के लिए जिला वृक्षारोपण समिति से सम्पर्क कर वृक्षारोपण कार्य को लक्ष्य के अनुरूप गति दें। उन्होंने जनपद वासियों का आव्हान करते हुए कहा है जनपदवासी खूब वृक्षारोपण करंे। वृक्षारोपण व उनका संरक्षण तथा संवर्धन कर जनपद व प्रदेश को हरा भरा बनाएं। वन नीति के अनुसार भूमि पर 33 प्रतिशत वृक्षों का होना अत्यन्त आवश्यक है। इसके लिए अपने घर या आस पड़ोस जहाॅं भी उपयुक्त स्थान हो, अधिक से अधिक छायादार/फलदार वृक्षों का रोपण किया जाए। प्रदेश में वृक्षारोपण महाकुम्भ के अन्तर्गत 22 करोड़ पौधों का रोपण किया जाना है जिसकी सभीजन बारिश को देखते हुए वृक्षारोपण का कार्य निरन्तर करें। प्रत्येक विद्यालयों में कम से कम 200 से अधिक पौधें खुले स्थानों स्कूल की बाउण्डीवाल के किनारे आदि जगह वृक्षारोपण कार्य करें। 
डीएफओ तुलसीदास शर्मा द्वारा बताया गया कि प्रेदश में सरकार द्वारा 22 करोड़ वृक्षारोपण महाकुम्भ वर्ष 2019 लक्ष्य एवं क्रियान्वयन के तहत जागरूकता एवं प्रशिक्षण शिवरों के माध्यम से बताया जा चुका है कि जनपद में 2565110 वृक्षारोपण किया जाना है। जिसमें ग्राम्य विकास विभाग द्वारा 1681300 पौधे, वन विभाग 9 लाख सहित शेष अन्य विभागों को किया जाना है। जिसकी रणनीति जिला वृक्षारोपण समिति व सभी विभाग बेहतर तरीके से बनाकर जियोटैगिंग की कार्यवाही के अनुरूप वृक्षारोपण करें तथा उसकी रिपोर्ट भी दें। जीवन की रक्षा के लिए प्रकृति के नजदीक आना और उसके संरक्षण जरूरी है। एक रिपोर्ट के अनुसार विगत दिनों ग्लोविंग वार्मिग 51.1 तपमान राजस्थान में रिकार्ड किया गया था। जिसकी स्थिति ठीक नही है। प्रत्येक विद्यालयों में या जहां कही खुली जगह हो वहां अधिक से अधिक वृक्षारोपण करें भावनात्मक लगाव के लिए जो वृक्ष रोपण किये जाये उनका नाम अपने परिजन का नाम दें। इससे संरक्षण का भाव अधिक होगा। 
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, डीएफओ तुलसीदास शर्मा, एडीएम प्रशासन राम अभिलाष, डीसी मनरेगा पवन कुमार एवं समस्त एसडीएम, बीडीओं आदि अधिकारी उपस्थित थे।