ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
आत्मविश्वास के साथ सामाजिक दूरी बनाकर कोरोना को परास्त करना है
April 27, 2020 • रायबरेली। • News

लखनऊ मण्डल के आयुक्त व नोडल अधिकारी कोरोना मुकेश मेश्राम व आईजी एस0के0 भगत ने बचत भवन के सभागार, रायबरेली में कहा कि कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु लोगो को जागरूक व सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि डरने की जरूरत नही है बल्कि उसे आत्मविश्वास के साथ सामाजिक दूरी बनाकर कोरोना को परास्त करना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के कथन को दोहराते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ देश की जनता डट कर लोहा ले रही है और इसमें सफलता भी मिल रही है। लेकिन ध्यान यह भी देना होगा कि आत्मविश्वास या उत्साह में की गई लाहपरवाही भी खतरनाक साबित हो सकती है। देश व प्रदेश की स्थिति अन्य देशों से ठीक है। क्योकि यह पर जनता के जागरूकता के कारण ही समाजिक दूरी बनाते हुए लाॅकडाउन का पालन किया जा रहा है। कोरोना योद्धा भी बढ़ चढकर लोगों को कोरोना वायरस के खिलाफ अपना योगदान दे रहे है। उन्होंने कहा कि हमे कोरोना को हराने में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही करनी है। प्रत्येक दशा में लाॅकडाउन का पालन करना है सामाजिक दूरी बनायी रखनी है। मास्क को पहन कर ही घरों से निकला है इसके अलावा कही पर थूकना भी नही है। पुलिस प्रशासन की बात को मानना है।  
 मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम ने कहा कि जनपद में लाॅकडाउन का पालन व समाजिक दूरी बनाये रखने को निरन्तर आदेश जारी के साथ ही पालन भी कराया जा रहा है। सबके हित और सबकी हिफाजत, सबका साथ सबका विश्वास लेकर ही कार्य किये जा रहे है। वैवाहिक और मांगलिक सारे कार्यक्रमों पर रोक लगाई गई है। अन्तिम संस्कार में सीमित लोग को जाने के लिए तथा किसानी से सम्बन्धित कार्यो के लिए पूरी तरह से अनुमति है। गभवर्ती माहिलाओं, दिव्यांग, वृद्धजन आदि सहित चिकित्सक को दिखाने के लिए किसी भी प्रकार की कोई रोक नही है। जनपद में 102 क्वारंटीन सेन्टर है जो बढ़ाये जा रहे है। 15 हजार लोगों को रखने की व्यवस्था की जा रही है। चिकित्सक टीम क्वारंटीन सेन्टर में देखभाल कर रहे है। सभी केन्द्रों पर पानी, बिजली, शौचालय व स्वास्थ्य सेवाए पूरी तरह से सुदृढ है। लाॅकडाउन का पालन न करने वाले के खिलाफ प्रशासन सख्त तथा आमजन को मास्क लगाने घरों में रहने तथा बार-बार हाथ धोने व सेनेटाइज करने के साथ ही समाजिक दूरी बनाये रखने की भी सलाह भी दी जा रही है। लाॅकडाउन पर जनपद में किसी भी खाद्य सामाग्री दवा आदि की किसी भी प्रकार से कमी न रहे तथा लोगों को घर-घर देने की व्यवस्था पूर्व की भांति ही चलाई जा रही है।
 मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम व आईजी एस0के0 भगत ने बताया कि कोविड-19 के अंतर्गत रायबरेली जनपद के मोहल्ला खालीसहाट कोतवाली नगर, ग्राम थुलेण्डी थाना बछरावां, ग्राम रसूलपुर थाना बछरावा, दर्जी मोहल्ला कस्बा ऊंचाहार, ग्राम पीठा पट्टी थाना ऊंचाहार, मदरसा इस्लामिया कस्बा सलोन को हॉट-स्पॉटस क्षेत्रों के रूप में चिन्हित किया गया है संपूर्ण जनपद में विशेष रूप से हॉट-स्पॉट क्षेत्र में लॉकडाउन एवं सोशल डिस्टेंसिंग का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थलों पर सेनेटाइज कराया जा रहा है। नगर पालिका की टीमों द्वारा निरंतर साफ सफाई की जा रही है तथा स्वास्थ्य विभाग की टीमों और पुलिस विभाग की रैपिड एक्शन टीमों द्वारा डोर-टू-डोर जाकर लोगों की चिकित्सीय जांच कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं तथा आवश्यकतानुसार कार्यवाही की जा रही है। हॉट-स्पॉट क्षेत्र में व्यक्तियों को चिन्हित कर क्वॉरेंटाइन कराया जा रहा है। आम जनमानस को सोशल डिस्टेंसिंग तथा लॉकडाउन का पालन करने के प्रति जागरूक तथा अपने स्मार्टफोन पर आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है।
 मण्डलायुक्त ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आम जनता को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े इस हेतु आवश्यक वस्तुओं की डोर-टू-डोर सप्लाई की व्यवस्था की गयी है। इस व्यवस्था के अंतर्गत दुग्ध आपूर्ति हेतु 39 वाहन, राशन हेतु 29 वाहन, तथा फल एवं सब्जी हेतु 77 ई-रिक्शा-ठेलों की व्यवस्था की गयी है तथा आम जनमानस के लिए डोर-टू-डोर एटीएम मोबाइल तथा पोस्ट ऑफिस (ए0ई0पी0एस0) के माध्यम से भी धन निकासी की व्यवस्था करायी गयी है। खाद्य वितरण प्रणाली के अंतर्गत निशुल्क खाद्य सामग्री का सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित कराते हुए डोर-टू-डोर वितरण किया जा रहा है। 
 हॉट-स्पॉटस क्षेत्रों में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध नियमानुसार निरंतर कार्यवाही की जा रही है, जिसके अंतर्गत अब तक कुल 184 से अधिक गाड़ियों का चालान किया गया है, 45 वाहनों को जब्त किया गया है तथा 188 आईपीसी के अंतर्गत 03 एफआईआर पंजीकृत की गयी हैं। जनपद में जनसामान्य को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध रूप से कराने हेतु गठित प्रवर्तन टीमों द्वारा जांच एवं निरीक्षण के क्रम में अनियमितता पाए जाने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के अंतर्गत उचित दर विक्रेता 18 व्यक्तियों के विरुद्ध कुल 17 अभियोग पंजीकृत कराये गये हैं। साथ ही लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध जनपद में अब तक कुल 123 अभियोग पंजीकृत कराये गये हैं, 2512 वाहनों का चालान किया गया है, 327 वाहन सीज किये गये हैं तथा 3,45,300 रुपए समन शुल्क की वसूली की गई है।
 लॉकडाउन के दौरान जनमानस की सूचना-शिकायतों के निवारण एवं निस्तारण करने तथा आवश्यक वस्तुओं को आम जनमानस तक पहुंचाने हेतु इन्टीग्रेटेड कंटोल रूम की व्यवस्था की गयी है जिसका मो0नं0 0535-2203320, 535-2703108 है। हॉट-स्पॉटस क्षेत्रों में मजिस्ट्रेट तथा पुलिस अधिकारी नियुक्त किये गये हैं, जो नियमित भ्रमणशील रहकर पर्यवेक्षण एंव जन सुविधाओं की आपूर्ति एवं लॉक-डाउन की स्थिति पर  निरंतर सतर्क दृष्टि रख रहे हैं। जनपद के कलेक्ट्रेट में स्थित कोरोना इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है कंट्रोल रूम नंबर 0535-2203214, 2203320 मो0नं0- 9532748340, 9532511074, 9532856705, 9532647079 पर संपर्क कर सकते है। किसी प्रकार की आवश्यकता व शिकायत को तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जा रहा है। इसी प्रकार कोविड-19 लखनऊ मण्डल लखनऊ में भी कंट्रोल रूम नंबर 0522-2618614 मो0नं0 7376152047, 8004601241, 8004669953 की स्थापना की गई है। 1070, 1076 आपदा के लिए है। जिस पर भी शिकायत की जा सकती है। आप तक हर संभव मद्द पहुचाना प्रशासन की जिम्मेदारी है। धैर्य व संकल्प शक्ति को बनाये रखे और स्वयं सुरक्षित रहकर अपने परिवार को सुरक्षित व स्वस्थ्य रखे।
 जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना द्वारा बताया कि जनपद में 97 गेहूँ क्रय केन्द्र संचालित किये गये है। जिसमें गेहूँ क्रय का लक्ष्य 67 हजार 300 मी0टन है। 3019 मी0टन गेहूँ की खरीद की जा चुकी है। सभी गेहूँ क्रय केन्द्रों के प्रभारियों को निर्देश दिये गये है कि अधिक से अधिक गेहूँ की खरीद कर लक्ष्य की पूर्ति करें। 37 हजार 410 श्रमिक का पंजीकरण है। जिन्हें 3 करोड़ से अधिक वितरित किये जा चुके है। कोटा के 67 छात्र/छात्राए आये थे जिनकों 14 दिन कोरेन्टाइन पूर्ण करने के दौरान होम कोरेन्टाइन कर दिया गया है। 6 बसे हरियाण से 119 प्रवासी मजदूरों को लगाई है। जिसमें कुल 154 है। जनपद में खाद्यन्न, चिकित्सीय दवाओं, कोविड-19 से निपटने के लिए मास्क, सेनेटाइजर तथा अन्य चिकित्सीय उपकरण के साथ ही दवाओं की प्रयाप्त मात्रा में उपलब्धता है। बैंक मित्र व डाकियों द्वारा घर-घर लोगों को पैसा भी पहुचाया जा रहा है। साफ-सफाई के लिए नगर पालिका/नगर पंचायत, डीपीआर, बीडीओ, एसडीएम आदि को निर्देश दिये गये है कि जिन के राशन कार्ड नही बने या राशन कार्डो में कमी हो उसको ठीक कराया जा रहा है। सोडियम हाईक्लोराइड आदि के माध्यम से जनपद को सेनेटाइजेशन का कार्य भी कराया जा रहा है। सीएचसी रोहनिया में 50, बटोही में 70 व रेयान इण्टरनेशन में 200 बेड व आधुनिक सुविधाओं से युक्त एल-1 के समकक्ष तैयार कर दिये गये है। जो लोगों कोरेन्टाईन में रखे गये है सभी के साथ मानवीय व मानवीय संवैदनाओं वाला व्यवहार किया जा रहा है। उनके परिजनों से सम्पर्क कर उन्हें धन्यवाद किट भी दिया जायेगा। जिसमें आपके साथ प्रशासन भी है कोरोना से घबराने की कोई जरूरत नही है। समाजिक दूरी बनाते हुए व लाॅकडाउन में रहते हुए लाॅकडाउन का पालन करते हुए एक दिन कोरोना हारेगा और हम होंगे कामयाब। आईजी एस0के0 भगत व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने कहा कि पुलिस का रोल अहम है जो कि मानवीय व्यवहार के साथ लाॅकडाउन का पालन करवा रही है तथा लोगों की मद्द भी कर रही है। उन्हांेने प्रेस प्रतिनिधियों सहित आमजनों से कहा कि मास्क के साथ मजाक न करे मास्क जीवन का हिस्सा है इससे समझे बार-बार न छुवे न निकले इससे आप स्वयं कोरोना को दावत दे रहे है जिससे आप स्वयं व परिवार समाज के लिए भी घातकता सिद्ध कर रहे है। 
 इस मौके पर जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई, अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानन्द राय, अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम अभिलाष, एडी सूचना प्रमोद कुमार सहित बड़ी संख्या में मीडिया बन्धु भी उपस्थित थे।