ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
अहिंसा सर्वश्रेष्ठ गुण है
February 17, 2020 • लखनऊ। • Views

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर आॅडिटोरियम, लखनऊ में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए सी.एम.एस. की संस्थापिका-निदेशिका, प्रख्यात शिक्षाविद् एवं बहाई अनुयायी डा. भारती गाँधी ने कहा कि बच्चों में अहिंसा के विचारों का निर्माण अत्यंत आवश्यक है क्योंकि अहिंसा ही मनुष्य का सर्वश्रेष्ठ गुण है। बच्चों में बचपन से ही अच्छे मानवीय गुणों का समावेश करके उन्हें प्रेम, करूणा, दया, सहयोग तथा अहिंसा की शिक्षा देना ही सी.एम.एस. की शिक्षा पद्धति का मूल है। डा भारती गाँधी ने जोर देकर कहा कि महात्मा गाँधी ने सत्य तथा अहिंसा के बल पर ही देश को आजाद कराया था। अब सी.एम.एस. के बच्चे विश्व नागरिक बनकर दुनिया से लड़ाईयाँ बंद करायेंगे। उन्होंने कहा कि छात्रों को अंगे्रजी भाषा का ज्ञान होना अति आवश्यक है क्योंकि अंगे्रजी वैश्विक भाषा है और इसी के द्वारा संवाद करके बच्चे दुनिया में ‘जय जगत’ तथा ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ की भावना तथा विचार का विस्तार करेगें।
 ‘‘विश्व एकता सत्संग’’ में आज सी.एम.एस. अशर्फाबाद के छात्रों ने रंगारंग आध्यात्मिक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की सुन्दर प्रस्तुतियों से उपस्थित सत्संग प्रेमियों को भावविभोर कर दिया। स्कूल प्रार्थना से कार्यक्रम की शुरूआत करके छात्रों ने ‘‘ओ गाड गाईड मी’’ तथा ‘‘प्रभु मेरे घर आओ’’ भक्तिगीतों की प्रस्तुति दी। ‘‘मैसेन्जर आफ पीस’’ कार्यक्रम के द्वारा बच्चों ने सभी धर्मों के अवतारों की चर्चा की। ‘‘गाड इज गुड’’ भक्ति गीत की प्रस्तुति की खूब सराहना हुई। बच्चों के दादा-दादी ने ‘‘इतनी शक्ति हमें देना दाता, जिन्दगी इक सफर है सुहाना तथा उठे सबके कदम’’ गीतों की प्रस्तुति देकर खूब तालियाँ बटोरी। बच्चों ने ‘‘दादीजी पापा की मम्मी’’ गीत प्रस्तुत किया।
 ‘‘विश्व एकता सत्संग’’ में उपस्थित श्री एच. के. आब्दी, वीर बहादुर मिश्र तथा अन्य कई जाने-माने विद्वानों एवं विभिन्न धर्मावलम्बियों ने भी अपने सारगर्भित विचार व्यक्त किये। अन्त में सत्संग की संयोजिका श्रीमती वंदना गौड़ ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया।