ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
गांव के गरीब व्यक्तियों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नही हो
May 16, 2020 • रायबरेली। • News

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत कलेक्ट्रेट स्थित बचत भवन के सभागार में सेक्टर मजिस्टेªट व सेक्टर अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहर व ग्रामीण क्षेत्रों मे जाकर कोरोना से सम्बन्धित लाॅकडाउन व सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन की व्यवस्थाओं को देखे तथा शेल्टर होम, कम्युनिटी किचन, गांव व शहर में जहां पर कोई कमी हो तो उस को देखे। उन्होंने कहा कि सेेक्टर अधिकारी/सेक्टर मजिस्टेªट अधिकारी, सुरक्षा अधिकारी परस्पर समन्जस्य बनाकर निर्वाचन कार्यो की तरह टीम के भांति अपने-अपने क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर कार्य करें। सेक्टर मजिस्टेªट अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर निगरानी कमेटी के सदस्य राजस्व गांव, शहरी निकायों के वार्डो में निगरानी समितियों को पूरी तरह से सक्रिय कर आये हुए प्रवासी को शासन द्वारा मुहैया कराई जा रही सुविधाओं की जानकारी लेकर नियमित संवाद बनाकर प्रतिदिन की रिपोर्ट उपलब्ध कराये। संवेदनशील होकर पूरी तरह से क्षेत्रों में जाये गठित निगरानी समितियों से सम्पर्क कर व्यवस्थाओं को तत्काल दुरूस्त कराये। प्रत्येक पात्र गरीब व्यक्ति को यदि राशन किट न दी गई है तो उसे राशन किट जो कि एसडीएम व खण्ड विकास अधिकारी के माध्यम से तत्काल उपलब्ध कराई जाये। गांव के गरीब व्यक्तियों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नही हो उसका राशन कार्ड है या नही है युनिट कंट गई हो तो उसकी भी सूचना लेकर अपलोड कराये। 
 जिलाधिकारी ने खान अधिकारी तथा सेक्टर अधिकारियों द्वारा जनपद में कराये जा रहे कार्य संतोष जनक न पाये जाने पर, अपने क्षेत्रो में ग्रमण न करने वाले अधिकारियों को चिन्हित करते हुए एडीएम एफआर को निर्देश दिये कि सम्बन्धित अधिकारियों की जांच करके उनके विरूद्ध नियमानुसार विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज कराकर दण्डात्मक कार्यवाही करने में किसी भी प्रकार का संकोच न करे। खान अधिकारी तथा सेक्टर अधिकारी/सेक्टर मजिस्टेªट अपने-अपने क्षेत्रों में प्रत्येक दशा में जाकर शासन द्वारा कराये जा रहे कार्यो में अपेक्षित गति लाये। उन्होंने लाॅडरी व वेस्टमैनेजमेंट कार्यो को भी ठीक से चलाया जाये। डिस्चाज किये गये व्यक्तियों को भी एक एडवाइजरी लिखित दिया जाये कि उसे घर में क्या करना है क्या नही करना है ? उसे होम क्वारंटाइन में रहना है। उन्होंने कहा कि कोई भी अन्य जनपद का बाहरी व्यक्ति पैदल व साईकिल से जा रहा हो तो उसकी जानकारी लेकर उसे किसी वाहन के माध्यम से उसके घर तक पहुचाए गांव में जो श्रमिक आये है उसका श्रम विभाग से पंजीकरण कराकर सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं को उसको उपलब्ध कराये। संकट के समय आपदा घोषित है सबकी जिम्मेदारी है कि पूरी तरह से सक्रिय रहकर कार्य करे। लोगों को मास्क लगाने की जानकारी दे इसे नाक और मुंह को पूरी तरह से ढके तथा कही पर भी न थुके और न ही कचरा फैके अन्यथा ऐसा करने वाले लोगों के विरूद्ध जुर्माना व सजा का प्रविधान है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में निगरानी कमेटी के माध्यम से यह मालूम करे कि किसी को बुखार, सुखी खासी, सांस फुलने की समस्या आदि हो तो उसकी सूचना कंट्रोल रूम में दी जाये। उन्होंने सेक्टर अधिकारियों से कहा कि कही-कही रास्ते में किसी स्थान पर कोई पुण्य कमाने वाला व्यक्ति हो तो वह रास्ते में जो लोग साईकिल या पैदल जाने वाले श्रमिको व गरीबो को समाजिक दूरी बनाते हुए फल, खाना आदि मुहैया कर सकता है। लोगों को बताया जाये कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नही है जरूरत सिर्फ चिकित्सकों की निर्देशों का पालन करना तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करना है। सभी अधिकारी जनपद के कलेक्ट्रेट में स्थित कोरोना इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है कंट्रोल रूम नम्बर आदि नोट कर लें। कंट्रोल रूम नंबर 0535-2203214, 2203320 मो0नं0- 9532748340, 9532511074, 9532856705, 9532647079 पर संपर्क कर सकते है। किसी प्रकार की आवश्यकता व शिकायत को तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जा रहा है। इसी प्रकार कोविड-19 लखनऊ मण्डल लखनऊ में भी कंट्रोल रूम नंबर 0522-2618614 मो0नं0 7376152047, 8004601241, 8004669953 की स्थापना की गई है। आप तक हर संभव मद्द पहुचाना प्रशासन की जिम्मेदारी है। उन्होंने कोरेाना से सम्बन्धि अन्य जानकारियों व उचित दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में टेलीमेडिडिस सेन्टर के चिकित्सकों से प्रतिदिन टेलीफोन के माध्यम से दी जा रही लोगों को स्वास्थ्य सम्ब.न्धित जानकारियों स सलाह के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि पुलिस, स्वास्थ्य टीम भी सयुक्त समन्जस्य बनाकर पोर्टल पर फीगर सही अपलोड कराये। इसके अलावा अस्थापना सुविधा व मैनपावर आदि व्यवस्थाओं को सुदृढ करते हुए सक्रिय रखा जाये। 
 इस मौके मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, सयुक्त निदेशक डा0 ए0के0 सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा, एडीएम प्रशासन राम अभिलाष एडीएम वि0रा0 प्रेम प्रकाश उपाध्याय, नगर मजिस्टेªट युगराज सिंह, एडी सूचना प्रमोद कुमार आदि बड़ी संख्या में सेक्टर मजिस्टेªट अधिकारी उपस्थित थे।