ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
गंगा यात्रा की तैयारी
January 17, 2020 • समाचार

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने गंगा यात्रा की तैयारी हेतु बचत भवन के सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि 27 जनवरी 2020 से 31 जनवरी 2020 क मध्य प्रदेश में गंगा यात्रा का आयोजन किया जाना है सम्बन्धित ग्रामों के नोडल अधिकारी प्रत्येक दशा में 23 जनवरी तक अपने-अपने गांव-क्षेत्रों की कार्य योजनाओं को पूरा कर हरहाल में मुहैया करवा दिया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि प्रत्येक ग्रामों में पशु मेला, स्वास्थ्य मेला, प्लास्टिक का प्रयोग पूरी तरह से प्रतिबंद्ध, प्रत्येक ग्रामों में रात्रि चैपाल व ठहरने की व्यवस्था, गंगा पार्क, गंगा मैदान, ओपेन जिम, खेल साम्रगी, साफ-सफाई, शौचालय आदि व्यवस्थाओं को युद्ध स्तर पर पूरा कर लिया जाये। 29 ग्रामों के विकास खण्ड  डलमऊ के चकमलिक भीटी, कनहा, डलमऊ, दीनशाहगौरा- भगवंतपुर चंदनिहा, पयागपुर, हमीरमऊ, कल्यानपुर बेती, धीरनपुर, लालगंज- खजूरगांव, जनेवा कटरा, गेंगासो, सरेनी- हरीपुर, महरौली, निसगर, कोटियाएह तमाली, मथूरपुर, सराय खाण्डे, सलपुर, जगन्नाथपुर, हिलौली, सैदापुर, बैरूआ, सिंघौरतारा, रामपुर कला, इसी प्रकार विकास खण्ड ऊँचाहार के गोकना मुस्तकिल, कल्यानी, कोटरा बहादुरगंज, जब्बारीपुर एवं खरौली ग्राम पंचायतों गंगा के किनारे हैं। इन ग्राम पंचायतों के नोडल अधिकारी-कर्मचारी अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण जारी रखकर वहां की व्यवस्थाओं को देखकर गंगा यात्रा के सम्बन्ध में दिये गये दिशा निर्देशों के अनुरूप पूरा करें। उन्होंने डीएफओं को निर्देश दिये कि 29 ग्रामों में फलदार, छायादार वृक्षों का रोपण करे इस पर डीएफओ तुलसीदास शर्मा द्वारा बताया गया कि प्रत्येक ग्रामों में 101 वृक्षों का रोपण किया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने कहा कि 30 जनवरी को लालगंज उपमुख्यमंत्री/जनपद के प्रभारी मंत्री डा. दिनेश शर्मा द्वारा एक बैठक का भी आयोजन भी किया जाने के साथ ही सभी 29 गंगा के ग्रामों में सभी शौचालय का बनना व समुचित संचालन आदि कार्यो को किया जाना है। मनरेगा द्वारा गंगा पार्क का निर्मित किया जाये जिसके लिए जमीन का चिन्हांकन यदि न हुआ हो उसे पूरा कर लें। गंगा यात्रा के दौरान प्रभारी मंत्री, सांसद, विधायक आदि का भी रात्रि विश्राम भी रहेगा जिसकी समुचित तैयारों को अधिकारी व कर्मचारी दुरूस्त रखे और जहां पर सांसद, विधायक आदि लोगों के ठहरने के साथ ही शौचालय, पानी, विद्युत, खान-पान आदि की व्यवस्थाए चाकचैबंद रहे। समस्त ग्राम पंचायतों में एक चबूतरा व खेल मैदान भी बनाना है। उन्होंने कहा कि गंगा के किनारे 29 गंाव के नोडल अधिकारी अपने-अपने निर्धारित गांव में जाकर वहां की सारी व्यवस्थाए दुरूस्त कराये गये तथा रिपोर्ट देकर कार्य योजना शीघ्र तैयार करें। जलशक्ति-सिचाई विभाग, डीपीआरओ, तत्काल अन्तिम कार्ययोजना तैयार करके जिला सूचना कार्यालय को मुहैया करवा दिया जाये ताकि कार्ययोजना को निदेशक सूचना तथा अपर मुख्य सचिव सूचना/गृह को उपलब्ध कराया जा सके। गंगा नदी के तटवर्ती क्षेत्र में पड़ने वाले सभी नगर निकायों में ओडीएफ प्लस के लक्ष्य को पूर्ण करे, सीवर/ड्रेनेज का प्रवाह गंगा नदी में न हो, पालीथीन का प्रयोग पूर्णतया रोक, गंगा आरती व सांस्कृतिक कार्यक्रम जगह चिन्हित रहे, गंगा पार्क में ओपेन जिम की व्यवस्था रहे, कार्याे में स्थानीय स्वरोजगार को बढ़ावा भी मिले। उन्होंने अपर पुलिस अधीक्षक से कहा कि यात्रा के दौरान जहां-जहां सम्भव हो वहां स्टीमर या नौकायान से दूरी तय की जाएगी एवं जहां संभव न हो वहां सड़क मार्ग के माध्यम से यह दूरी तय की जायेगी स्टीमर और नौकाओं की व्यवस्थाए दुरूस्त रखी जाये। इसके अलावा जगह-जगह वाल पेटिंग या बोर्ड लगवा दिया जाये कि गंगा नदी में शव प्रवाहित व निकट जलाना, कूड़ा-कचरा फेकना, नालो का पानी पूरी तरह से प्रतिबद्धित रखा जाये। 
डीएम ने कहा कि यात्रा के दौरान प्रत्येक दिन केन्द्रीय मंत्री से प्रतिभाग करने हेतु भारत सरकार से अनुरोध कर लिया जाये। स्थानीय सांसद, प्रदेश के मंत्री तथा विधायकगण द्वारा यात्रा के दौरान गंगा नदी के किनारे पड़ने वाले सभी ग्राम पंचायतों एवं नगर निकाय में रात्रि विश्राम किया जायेगा इसे पूरी तरह से व्यवस्थाओं को पूर्ण कर लें। विधायकगण द्वारा अलग-अलग स्थानों पर रात्रि विश्राम किया जायेगा। उन्हांेने ने कहा कि चयनित गांव में खेलकूद, वाद विवाद प्रतियोगिता, सामान्य ज्ञान, चित्रकला आदि प्रतियोगिताओं के साथ ही स्वास्थ्य, पशु मेलों का आयोजन भी आयोजित किये जाये इसके लिए भी तैयारियों को दुरूस्त रख जाये। नदी के 500 मीटर के दायरे में बाढ़ क्षेत्रों को छोड़कर फलदार वृक्ष लागाकर गंगा उद्यान भी तैयार किया जाये। किसानों को फलदार वृक्ष लगाने की ओर प्रेरित करे। गंगा के किनारे किसी भी दशा में कुड़ा आदि के साथ ही नालियों का पानी किसी भी दशा में गंगा में न बहाया जाये। नोडल अधिकारी लालगंज व एसडीएम लालगंज जहां पर प्रभारी मंत्री की बैठक व अन्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है वहां पर स्थल चिन्हित व अन्य कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयारकर तत्काल उपलब्ध कराये। अन्य नोडल अधिकारी भी अपने-अपने से सम्बन्धित गांवों व क्षेत्र में भ्रमण कर कार्यक्रमों व क्षेत्र की व्यवस्थाओं को दुरूस्त रखा जाये। 30 जनवरी को गंगा यात्रा रायबरेली बार्डर अरखा ऊँचाहार में प्रवेश करती हुई जेल रोड होते हुए लालगंज में आयोजित कार्यक्रम स्थल बैसवारा डिग्री कालेज प्रांगण में जाकर एक समारोह/कार्यक्रम पूर्ण होकर आगे के लिए जायेगी। बैठक में अन्य बिन्दुओं पर भी विस्तारपूर्वक चर्चा की गई।
 इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, एएसपी नित्यानन्द राय, एडीएम राम अभिलाष डीएफओ तुलसीदास शर्मा, सीएमओ संजय कुमार शर्मा, एडी सूचना, बीएसए आदि जनपदस्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।