ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
ग्रह बाधाओं की परछाईयाँ
December 2, 2019 • राजेन्द्र प्रसाद शर्मा

जैसे गुरू खराब हो तो पेट, लीवर, आन्त के रोग, संतानहीनता, धनाभाव, पुत्र बाधा या पुत्राभाव आदि होता है। मैने कहा कि आपके उपर इन में से कोई भी बात लागू नही होती है। वास्तव मे आपका बुध (व्यापार) और मंगल (कर्जा व संपत्ति कारक) खराब है। जो कर्जा और व्यापार में घाटा और मकान बिकवा रहा है।
घर की भूमि धंस जाय या मकान का हिस्सा गिर जाय, दीवार टूट जाय या घर में आग लग जाय बिजली के उपकरण या बल्ब बार बार खराब हों, छोटी चोट या दुर्घटना, सर्जरी, ताम्बे की वस्तु खो जाना, अकारण शत्रुता, बह्मराक्षस का कोप, गुस्सा आना। हवन या अन्य अग्नि ना जल, गैस, स्टोव आदि खराब हो जायंे।
बुध-
सूंघने, सुनने या बोलने की शक्ति कम हो गाली निकले, शिक्षा, व्यापार में हानि, खाज, खुजली के रोग,यादाश्त मे कमी, पुस्तके खो जाना, पुराने मित्रों से संबध टूटे, कामशक्ति मे कमी। मोबाईल खोये, स्कूल मे प्रवेश ना मिले।
गुरू-
जंेवर खोये, अकारण बदनामी, धार्मिक पुस्तक या मूर्ति अपने हाथों नष्ट हो, संतान हीनता, लीवर व बड़ी आन्त के रोग, पंडित या विद्वान का अपमान हो जाय, असत्य बोले, बह्म या देवकोप, सिर के बाल गिर जाय। 
शुक्र-
पत्नी या महिला से विवाद, यौन रोग, शरीर का कोई अंग सुन्न हो जाय, धनाभाव, अतिकामुकता हो नया व़स्त्र फट जाय, र्दुगंध आये, वाहन खोये या क्षतिग्रस्त हो, चाँदी की वस्तु खोये। शराब पिये।
शनि-
दिन मे नींद आये, गंदे, अपाहिज या भिखारी से विवाद हो, मकान क्षतिग्रस्त हो जाये, जूते चप्पल खो जाय, लोहे से चोट लगे या लौह वस्तु खोये, नौकर से झगड़ा या वह छोड़ कर चला जाय, काला पालतू जानवर या मुर्गी मर जाय, तेल गिरे, अंधेरे गंदे कमरे मे रहे, गंदे कपड़े पहने, दाढी, मुछें व सिर के बाल बढें, कपड़ों मे धब्बे लगे। छाता फट जाये, पैर के लगे चोट।
राहू-
सर्प या मरी छिपकली दिखे, धुयें मे रहे, पालतू जानवर खो जाय या मर जाय, यादाष्त कमजोर हो, जरूरी चीजें व कागज खोये, ठगों से हानि, बंधन हो, अकारण शत्रुता पैदा हो, घर की रस्सी टूटे, मरे पक्षी दिखे भूत प्रेत दिखें या कष्ट दें, जादू टोने से पीड़ा, भयानक सपने आयें, घर मे उल्लू, चमगादड़ों का वास हो हाथ पैर के नाखुन टूटे, किसी शवयात्रा मे जाना पड़े, तीर्थ जाकर स्नान या देव दर्शन ना करें, मकान मे काई लगे दीवारें मे धास उगे या घर पुराना, खंडहर या प्रेतग्रस्त हो, घर में कबाड़ जमा हो, नालियां जाम हो, घर में जंगली पेड़ उगें। घर मे कोई पक्षी या पशु आकर मर जाय। भ्रम या गल्तियां करे, अपयश, तबादला, गाली बके, कहीं गिर जाय या फिसल जाये। बुरी खबरें सुनने को मिलें, मुर्गे काटे या चूहा काटे या चूहे कपड़ें काटे, शत्रु तंत्र करें, पैर के नाखुन खराब हो पेट, मूत्र के रोग, अग्नि से जलना, चोट।