ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
झांसी की सीमाएं सील कर दी गई हैं कोई भी अंदर ना आ सके:जिलाधिकारी
April 26, 2020 • पंकज भारती - ब्यूरो चीफ झांसी • News

झांसी जनपद में कोई भी धार्मिक स्थल आमजन के लिए नहीं खुलेंगे और ना सार्वजनिक धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। एसडीएम व सीओ संयुक्त रूप से क्षेत्र भ्रमण के दौरान धार्मिक स्थलों पर विशेष नजर बनाए रखें। क्षेत्र में पीस कमेटी की बैठक अवश्य कर लें। दिहाड़ी मजदूरों का अभियान चलाकर मनरेगा योजना अंतर्गत जॉब कार्ड बनाए जाएं। एक गांव-एक तालाब के कार्य में तेजी लाएं, इसके साथ ही मनरेगा में अन्य कार्य जो जल संचय, जल संवर्धन के लिए उपयुक्त हैं टेकअप किए जाएं। कोटेदार द्वारा घटतोली पर एफ.आई.आर. दर्ज किए जाने के निर्देश। जनपद की सीमाएं सील कर दी गई हैं कोई भी अंदर ना आ सके यह कड़ाई सुनिश्चित हो। 
यह निर्देश जिलाधिकारी, झांसी आंद्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में समस्त उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी पुलिस के साथ जनपद में प्रॉपर लॉक टाउन स्थापित करने हेतु आयोजित बैठक में दिए। जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने कहा कि प्रदेश शासन द्वारा प्राप्त दिशा निर्देशों के बाद ही दुकान खोले जाने पर निर्णय लिया जाएगा। लॉकडाउन के दौरान जो स्थिति थी वह बनी रहेगी, अति आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोले जाने का जो निर्णय है वह यथावत रहेगा अन्य बाजार नहीं खुलेगा। उन्होंने कहा कि जनपद में निर्माण कार्य की छूट दी गई है, जिसमें आसरा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना सहित झांसी-खजुराहो मार्ग इसमें कार्य करने हेतु श्रमिकों को रोका नहीं जाएगा, सड़क निर्माण में कार्य कर रहे श्रमिक एक ही स्थान पर रहेंगे और सोशल डिस्टेंसी का पालन करते हुए काम किया जाना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने ग्रामीण क्षेत्र में हैंडपंप के कार्य व जल संस्थान द्वारा पेयजल पूर्ति हेतु पाईप पेयजल योजना के कार्य करने की भी छूट दी और निर्देश दिए कि प्राथमिकता से यह कार्य पूर्ण किए जाएं ताकि पेयजल संकट से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि जनपद में 60 औद्योगिक इकाइयों को प्रारंभ किया गया है वहां कार्य कर रहे श्रमिक कार्यस्थल पर ही रहेंगे, इधर-उधर नहीं जा सकेंगे और जो कार्य किया जाएगा उसमें सोशल डिस्टेंसी का कड़ाई से अनुपालन किया जाए।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा तहसील स्तर पर कोटेदार द्वारा घटतोली की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए निर्देश दिए कि राशन वितरण के समय उप जिलाधिकारी स्वयं निरीक्षण करें यदि गड़बड़ी पाई जाए तो सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने गेहूं क्रय केंद्रों के बंद रहने पर भी नाराजगी व्यक्त की और गरौठा क्षेत्र के ऐसे केंद्रों के प्रभारियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने किसानों के पंजीकरण में तेजी लाए जाने के साथ ही टोकन जनरेट करने में भी सहयोग देने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी छुट्टा जानवर को आश्रय स्थल पहुंचाया जाएं। गो आश्रय स्थल पर भूसा क्रय हेतु धनराशि आवंटित कर दी गई है तत्काल स्थानीय गौ संरक्षण समिति भूसा क्रय करने की कार्यवाही प्रारंभ करें। इस मौके पर एसएसपी  डी प्रदीप कुमार, सीडीओ निखिल टीकाराम फुंडे, एसपी आर.ए. राहुल मिठास, एस.पी. सिटी राहुल श्रीवास्तव, सहित समस्त उप जिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी पुलिस उपस्थित रहे।