ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
कक्ष निरीक्षक भी अपने साथ मोबाइल नही ले जा सकेंगे
December 19, 2019 • पंकज भारती - ब्यूरो चीफ झांसी

झांसी जनपद में 22 दिसम्बर 2019 को आयोजित होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2019 पूर्णतयः सुचिता, पारदर्शिता और शान्तिपूर्वक व नकल विहीन ढंग से सम्पन्न कराये जाने के लिये शासन कटिबद्व है। परीक्षा में गड़बड़ी करने वालो पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। परीक्षा केन्द्र पर मोबाइल फोन पूर्णतया प्रतिबन्धित है, कक्ष निरीक्षक भी अपने साथ मोबाइल नही रखेगे। समस्त परीक्षा केन्द्रो पर मूलभूत आवश्यकताओं को सुनिश्चित कर लिया जाये। विशेष रुप से लाइट की व्यवस्था को अवश्य देखा जाये। यह निर्देश ए.सी.एम. श्रीमती वान्या सिंह ने राजकीय इंटर कालेज (जीआईसी) के सभागार में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2019 की तैयारियों पर चर्चा करते हुये दिये। उन्होने समस्त प्रधानाचार्यो को से कहा कि 22 दिसम्बर से पूर्व सिटिंग प्लान तैयार कर ले। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2019 की तैयारियों की समीक्षा करते हुये ए.सी.एम. श्रीमती वान्या सिंह ने कहा कि परीक्षा नकल विहीन होगी, अतः ऐसे कक्ष निरीक्षक जिनके निकट सम्बन्धी परीक्षा दे रहे हो तो उन्हे कक्ष निरीक्षक के दायित्व से मुक्त रखा जाये। उन्होने कहा कि महिला परीक्षर्थियों की चेकिंग महिला शिक्षिका के द्वारा ही करायी जाये। शान्तिपूर्वक परीक्षा हेतु समस्त परीक्षा केन्द्रो पर पर्याप्त पुलिस बल मुस्तैद रहेगा। साथ ही सेक्टर मजिस्ट्रेट-सचल दल लगातार भ्रमणशील होकर परीक्षा केन्द्रो की निगरानी करेगा। टीईटी परीक्षा-2019 की तैयारी बैठक में डीआईओएस कोमल सिंह यादव ने बताया कि जनपद में 29 परीक्षा केन्द्रों का गठन किया गया है। परीक्षा दो पालियो में आयोजित होगी। प्रथम पाली पूर्वान्ह 10.00 से 12.30 बजे तक तथा द्वितीय पाली अपरान्ह 2.30 से 5.00 बजे तक आयोजित होगी। उन्होने बताया कि प्रथम पाली प्राथमिक स्तर की परीक्षा हेतु  14453 अभ्यर्थी तथा द्वितीय पाली में उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा हेतु 8615 अभ्यर्थी शामिल होंगे। उन्होने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट-पर्यवेक्षक के साथ ही समस्त परीक्षा केन्द्रों पर शिक्षा विभाग के पर्यवेक्षेक तैनात रहेगे। उन्होने कहा कि 8 सेक्टर मजिस्ट्रेट-सचल दल भी परीक्षा को नकल विहीन बनाने के लिये तैनात किये गये जो परीक्षा के दौरान लगातार भ्रमण करते हुये परीक्षा के संचालन पर दृष्टि रखेगे। इस मौके पर एसडीएम मोंठ मंजूर अहमद, एसडीएम टहरौली शशि भूषण, बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिवंश कुमार, एबीएसए श्रीमती दीप्ति रिछारिया, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत अशोक कुमार यादव, सहित समस्त विद्यालयों के प्रधानाचार्य-व्यवस्थापक व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।