ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
मुहब्बत की खातिर ये दुनियाँ बनाई
June 6, 2020 • अजमेर अंसारी ‘कशिश’ • Views

मुहब्बत दिलों से कब होती जुदा है !
मुहब्बत  जुनूँ है  मुहब्बत  नशा है !
             कहीं   ईश्वर  है !
             कहीं ये खुदा है !
मुहब्बत  में है  उसकी  सारी  खुदाई !
मुहब्बत की खातिर ये दुनियाँ बनाई !
मुहब्बत हकीकत का इक आईना है !
मुहब्बत  जुनूँ  है   मुहब्बत  नशा है !
              कहीं   ईश्वर  है !
              कहीं ये खुदा है !
मुहब्बत  के  दम से  बदन  में हरारत !
मुहब्बत  है  इंसानियत  की  जमानत !
मुहब्बत  है  जिसमें  उसी  में वफा है !
मुहब्बत  जुनूँ   है   मुहब्बत  नशा  है !
             कहीं   ईश्वर  है !
             कहीं ये खुदा है !
मुहब्बत से यारो  दिलों की है  धड़कन !
मुहब्बत से महके वफाओं का गुलशन !
मुहब्बत  बहुत  ही   हसीं  दिलरुबा  है !
मुहब्बत   जुनूँ   है   मुहब्बत   नशा  है !
              कहीं   ईश्वर  है !
              कहीं ये खुदा है !
मुहब्बत हर-इक दिल में खूँ की तरह है !
मुहब्बत ही दिल  में  सुकूँ  की तरह  है !
मुहब्बत  का   रुतवा  जहाँ  में  बड़ा है !
मुहब्बत  जुनूँ   है   मुहब्बत   नशा  है !
              कहीं   ईश्वर  है !
              कहीं ये खुदा है !
मुहब्बत  से जहाँ  में  मुहब्बत  है  पाई !
मुहब्बत  मकाम - ए - बलन्दी  पे  लाईं !
मुहब्बत में नफरत का कब दाखिला है !
मुहब्बत  जुनूँ   है   मुहब्बत  न शा  है !
              कहीं   ईश्वर  है !
              कहीं ये खुदा है !