ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
प्रतियोगिताओं द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया
December 15, 2019 • समाचार

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड आॅडिटोरियम, लखनऊ में चल रहे चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड (आई.ई.ओ.-2019) के तीसरे दिन देश-विेदेश से पधारे प्रतिभागी छात्रों ने इन्वार्यनमेन्ट क्विज, कोर्ट रूम ड्रामा एवं पेन्टिंग आदि विभिन्न रोचक प्रतियोगिताओं के माध्यम से बड़े ही जोरदार ढंग से पर्यावरण संरक्षण का संदेश सारी दुनिया को दिया। इसके अलावा, प्रख्यात पर्यावरणविद्ों व आमन्त्रित अतिथियों ने अलग-अलग विषयों पर आयोजित 'पर्यावरण कार्यशाला' के अन्तर्गत किशोर व युवा पीढ़ी को बिगड़ते पर्यावरण की विभीषिका से अवगत कराया, साथ ही इसके समाधान हेतु उनमें जोश व उत्साह का अलख जगाया। विदित हो कि सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड का आयोजन 12 से 15 दिसम्बर तक सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में किया जा रहा है जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से पर्यावरण संवर्धन का संदेश दे रहे हैं।
 आई.ई.ओ.-2019 के तीसरे दिन प्रतियोगिताओं का सिलसिला आज स्टिल वाटर्स (पेन्टिंग) प्रतियोगिता से हुआ, जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने बड़े जोश व उत्साह से अपने हुनर का प्रदर्शन किया। सीनियर वर्ग की इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों ने एक से बढ़कर एक जीवन्त कलाकृतियाँ उकेर कर अपनी कलात्मक प्रतिभा का परचम लहराया। 
 प्रातःकालीन में ही आयोजित जूनियर वर्ग की 'लाॅ आॅफ नेचर' (कोर्ट रूम ड्रामा) प्रतियोगिता ने भी दर्शकों को खूब लुभाया। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश के 25 छात्रों ने प्रतिभाग किया एवं प्रत्येक टीम में 5 छात्र थे।  प्रतियोगिता में छात्रों की कलात्मक प्रतिभा, रचनात्मक सोच व पर्यावरण के प्रति जागृति भाव देखते ही बनता था। प्रतियोगिता में प्रतिभाग हेतु देश-विदेश के छात्रों में गजब का कौतूहल व जोश देखने को मिला जिन्होंने अपनी अभिनय क्षमता का भरपूर प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में छात्रों ने अदालत की कार्यवाही का सजीव प्रस्तुतिकरण किया। भारतीय विद्या भवन, महाराष्ट्र की छात्र टीम ने पर्यावरण संरक्षण हेतु जागरूकता का मुद्दा उठाते हुए दलील दी कि जब तक जनमानस प्रतिबद्ध होकर इस दिशा में ठोस कदम नहीं उठायेंगे, तब तक बदलाव नहीं आयेगा क्योंकि विकास के नाम पर कम्पनियां सिर्फ लाभ कमाना चाहती हैं। आर्किड साइन्स कालेज, चितवन, नेपाल से पधारे छात्रों ने वन्य जीव संरक्षण के मुद्दे पर प्रभावपूर्ण कोर्ट ड्रामा प्रस्तुत किया। सावित्री पब्लिक स्कूल, गोरखपुर के छात्रों ने मुद्दा उठाया कि मेट्रो रेल परियोजनाओं के कारण पेड़ काटने के साथ ही जल व वायु प्रदूषण की समस्या गहरी हुई है। रूस्तमजी इण्टरनेशनल स्कूल, महाराष्ट्र के छात्रों ने ब्राजील, बोलिविया, पैराग्वे एवं पेरू के जंगलों में लगी आग का मुद्दा उठाया जबकि सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों ने मनुष्यों की अमानवीयता के कारण नष्ट होते पेग्विंग्स, ग्लेशियर्स, कोआला व बाघ की विलुप्त होती प्रजातियों का मुद्दा उठाया। इसी प्रकार, कई अन्य प्रतिभागी टीमों ने भी अलग-अलग ज्वलन्त विषयों पर दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया।
 अपरान्हः सत्र में आज अत्यन्त दिलचस्प वण्डर्स आॅफ नेचर (इन्वार्यनमेन्ट क्विज) का फाइनल राउण्ड सम्पन्न हुआ। जूनियर वर्ग की इस प्रतियोगिता में लिखित राउण्ड से चयनित 8 टीमों ने फाइनल राउण्ड में प्रतिभाग किया एवं अपने ज्ञान, प्रतिभा व सूझबूझ से उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। प्रतिभागी टीमों ने बिजली की गति से पूछे गये प्रश्नों का जवाब देकर न सिर्फ अपनी हाजिरजवाबी का प्रदर्शन किया अपितु पर्यावरण के प्रति अपनी संजीदगी को भी रेखांकित किया। इसी प्रकार, इफ विशेज हैड विंग्स (प्रोडक्ट रीडिजाइनिंग) प्रतियोगिता भी काफी दिलचस्प रही। इस प्रतियोगिता में छात्रों ने विभिन्न प्रकार के उत्पादों को वर्तमान समय की पर्यावरणीय आवश्यकताओं के अनुसार बदलकर उसका प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों की रचनात्मक सोच व सृजनात्मक प्रतिभा देखते ही बनती थी तथापि हरी-भरी स्वच्छ धरती के प्रति छात्रों की जाकरूकता को सभी ने सराहा।
 मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिताओं के अलावा आज प्रख्यात पर्यावरणविद्ों ने कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला के अन्तर्गत पर्यावरणविद् श्री निर्मल राघवन ने जल संरक्षण व स्वच्छता पर छात्रों व टीम लीडर्स को जागरूक किया। इसके अलावा, सायंकालीन सत्र में कोआपरेटिव कार्यक्रम 'सेवन वल्र्डस - वन प्लेनेट' का आयोजन हुआ, जिसमें सभी टीमों को दूसरी टीमों के साथ मिलकर पेन्टिंग के द्वारा नये विश्व की रचना प्रस्तुत की। 
 श्री शर्मा ने बताया कि यह अन्तर्राष्ट्रीय पर्यावरण ओलम्पियाड बड़ी ही सफलतापूर्वक अपने समापन की ओर बढ़ रहा है, जो कल 15 दिसम्बर, रविवार को अपरान्हः 3.00 बजे रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों एवं पुरस्कार वितरण के साथ सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में सम्पन्न हो जायेगा। समापन समारोह में देश-विदेश के विजयी प्रतिभागियों को शील्ड, मेडल, सार्टिफिकेट आदि पुरस्कारों से पुरष्कृत कर सम्मानित किया जायेगा।