ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
रामजानकी मन्दिर मूर्ति लूट गैंग के तीन जालसाज गिरफ्तार
August 1, 2020 • पवन उपाध्याय, वरिष्ठ पत्रकार • News

आजमगढ। रमेश कुमार पुत्र स्व0 बाबू राम निवासी हमजापुर थाना सराय ख्वाजा जिला जौनपुर ने शिकायत दर्ज करायी कि अभियुक्तगण 1. चन्द्रभूषण सिंह पुत्र रामअवतार सिंह निवासी बाबू खजुरी थाना मेहनगर आजमगढ 2. इन्द्रेश कुमार पुत्र स्व. रामफेर निवासी करौती थाना मेहनगर आजमगढ 3. करमजीत मौर्या पुत्र अलरख मौर्या निवासी ग्राम खालिसपुर गोदाम थाना जैतपुर अम्बेडकरनगर द्वारा मुझे तथा दिनेश राजभर पुत्र ब्रम्हदेव राजभर निवासी ताखा पश्चिम थाना शाहगज जौनपुर को कुटरचित दस्तावेज एवं फर्जी विडियो दिखाकर हम लोगो से 5 लाख रूपये की ठगी कर लिये है। जिसके आधार पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0149/20 धारा 420,406,323,504,506,467,468,471 भादविव 66 डी आई टी एक्ट पंजीकृत कर विवेचना प्रारम्भ की गयी।  
पुलिस अधीक्षक जनपद आजमगढ प्रो0 त्रिवेणी सिंह द्वारा अपराध नियंत्रण एव वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक नगर पंकज पाण्डेय व क्षेत्राधिकारी सदर श्री मो0 अकमल खाँ के निर्देशन में आज दिनांक 1.08.2020 को मुबारकपुर पुलिस एव स्वाट टीम की मदद से मु0अ0सं0 149/2020 धारा 420,406,323,504,506 भादवि के वांछित अभियुक्तगण 1. चन्द्रभूषण सिंह पुत्र रामअवतार सिंह निवासी बाबू खजुरी थाना मेहनगर आजमगढ 2. इन्द्रेश कुमार पुत्र स्व. रामफेर निवासी करौती थाना मेहनगर आजमगढ 3. करमजीत मौर्या पुत्र अलरख मौर्या निवासी ग्राम खालिसपुर गोदाम थाना जैतपुर अम्बेडकरनगर को दिनाक 1.8.20 को समय करीब 8.40 प्रातः बैठौली बाईपास से गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्तगण से पूछताछ व उनके बताये स्थान पर बेलईसा स्थित आफिस से फर्जी कूटरचित दस्तावेज व  लैपटाप , प्रिन्टर तथा नगद 60000.00 रुपया बरामद किया गया । गिरफ्तार अभियुक्तगण का चालान माननीय न्यायालय किया जा रहा है। पूछताछ के दौरान पुछताछ एवं साक्ष्य संकलन के पश्चात पता चला कि नामित अभियुक्तगण का जालसाजी का एक संगठित गिरोह है जो मुबारकपुर के रामजानकी मन्दिर की मूर्ति चोरी का साजिशकर्ता गैंग है। जो भोले-भाले लोगो को आजमगढ एव आस-पास के जिलो में ऐतिहासिक एव प्राचित मूर्तियो एवं प्राचीन सिक्को में राइस पुलिंग का पावर दिखाकर प्रभाव में लेता है और उनसे उन मूर्तियो एवं एन्टिक आइटम की चोरी कराकर उन्हे बेचकर रातो रात अमीर बनने का सपना दिखाता है। यह गैंग तमाम लोगो को पेट्रोल पम्प,गैस एजेन्सी एव शस्त्र लाईसेन्स दिलाने के नाम पर भी कुट रचित दस्तावेज दिखाकर ठगी करता है। इस अभियोग का वादी रमेश कुमार लेखपाल है तथा दिनेश निजी विद्यालय का संचालक है। बरामद 60,000 रूपये उन्ही से ठगी का अवशेष है जो उन्होने पीड़ियो से करीब 10 दिन पूर्व लिया था।