ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
समाजिक दूरी से कोरोना पर करे कड़ा प्रहार: मुकेश मेश्राम
April 26, 2020 • रायबरेली। • News

लखनऊ मण्डल के आयुक्त/नोडल अधिकारी मुकेश मेश्राम व आई जी एस0के0 भगत ने कहा कि समाजिक दूरी को बनाकर तथा लाॅकडाउन का पालन करते हुए कोरोना पर कड़ा प्रहार करें। कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत रखते हुए रायबरेली में गल्ला मण्डी, फल मण्डी व गेहूँ क्रय केन्द्र का निरीक्षण किया तथा निर्देश दिये कि सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराते हुए कार्य करें इसके अलावा अधिक से अधिक गेहूँ क्रय केन्द्र पर किसानों से गेहूँ नियामानुसार क्रय किया जाये। सरकारी कर्मचारी सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराये तथा लोगों को जागरूक भी करें। सामाजिक दूरी बनाने से ही कोरोना पर प्रहार कर उसे खत्म किया जा सकता है। सोशल डिस्टेन्सिंग के नियम के साथ ही उसका पालन करना जरूरी है। 
 मण्डलायुक्त ने हाॅट-स्पाटस क्षेत्र कहारों का अड्डा व खालीसहाट आदि स्थलों पर जाकर वह की व्यवस्था के बारे में जाना तथा निर्देश दिये कि आमजन अपने-अपने घरों में रहे और सुरक्षित रहे। पवित्र रमजान को देखते हुए चल रहे नमाज, रोजा व इफ्तार आदि पर घरों में ही समाजिक दूरी बनाते हुए कार्य करें। लाॅकडाउन का पालन न करने वाले के खिलाफ प्रशासन सख्त नजर आये तथा आमजन को मास्क लगाने घरों में रहने तथा बार-बार हाथ धोने व सेनेटाइज करने के साथ ही समाजिक दूरी बनाये रखने की भी सलाह देते रहे। लाॅकडाउन पर जनपद में किसी भी खाद्य सामाग्री दवा आदि की किसी भी प्रकार से कमी न रहे तथा लोगों को घर-घर देने की व्यवस्था पूर्व की भांति ही चलाये। यदि कोई निर्धारित दरों से अधिक सामाग्री को बेचता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही व एफआईआर दर्ज करें। निरीक्षण के दौराना मण्डलायुक्त व आईजी ने लोगों से उनका हाल-चाल पुछा तथा कोई समस्या हो तो आवश्य बताये। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से आमजन घबराये नही धैर्य रखें। 
 

कलेक्ट्रेट स्थित बचत भवन के सभागार, रायबरेली में मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जितने भी भारत सरकार व उत्तर प्रदेश की दिशा निर्देश व गाईड लाईन आई है उसका शर्त-प्रतिशत पालन किया जाये। अधिकारी उसमें अपनी तरफ से अगर लेकिन आदि लगाकर अपना नियम न बनाये और न ही सरकारी आदेशों को शिथिल करें। अधिकारी अगर आदेशों का पालन गम्भीरता से नही करेंगे तो दण्ड व जेल जाने के लिए तैयार रहे। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि संगद्धित लोगों के सैम्पल, सबके अन्तिमसंकार, कोविड-19 से सम्बन्धित लाजेस्टिक व्यवस्था, जेम पोर्टल से सम्बन्धित खरीदारी, चिकित्स्कों व पैरामेडिकल स्टाफ निजी व सरकारी दोनों से बेहतर समान्जस्य बनाकर कार्य योजना के अनुरूप कार्य करें। सरकारी एवं निजी दोनों चिकित्सालयों में आपात चिकित्सा सुविधा 24गुणा7 उपलब्ध रहे साथ ही चिकित्सक व स्टाफ को समुचित सुरक्षा एवं समुचित व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सक व उनका स्टाफ/सफाई कमचारियों, पुलिस आदि जो कोरोना योद्धा के रूप में जाने जाते है इन्हें किसी भी प्रकार को दिक्कतों का सामना न करना पड़ें इन सभी लोगों के लिए खाने-पीने व रहने आदि की व्यवस्था सुरक्षित व उच्चकोटि की रहें इसके अलावा जो कोरोना के मरीज तथा कोरेन्टाइन में रखे गये लोगों की समुचित व्यवस्था व देख-भाल भली-भांति रखी जाये। लोगों को बताया जाये कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नही है जरूरत सिर्फ चिकित्सकों की निर्देशों का पालन करना तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करना है। उन्होंने कहा कि एल वन से सम्बन्धित सुविधाओं, रैपिड रिस्पान्स टीम, विजिटिंग टीम के साथ ही अधिकारियों, चिकित्सकों आदि के प्रशिक्षण की व्यवस्था भी सुदृढ़ कराये। मेडिकल कोरेन्टाइन के लोगों को जिन्हें होम कोरेन्टाइन में रखा गया है तथा हाॅट-स्पाटस क्षेत्रों के लोगों से निरन्तर फोन कर उनका हाल-चाल भी लेते रहे। उन्होंने कहा कि सीएमओं, सीएमएस और जेडी हेल्थ कोरोना योद्धाओं की एक महत्वपूर्ण कड़ी है। परस्पर सामान्जस्य बनाये एक त्रिस्तरीय कमेटी तैयार कर अपने निर्णय से उच्च स्तरीय अधिकारियों के संज्ञान में लाये।