ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
संत गाडगे चैराहे का नाम परिवर्तन होने पर धोबी समाज ने विरोध किया
March 8, 2020 • पंकज भारती - ब्यूरो चीफ झांसी • News

झाँसी जनपद मुख्यालय में में स्तिथ संत गाडगे चैराहे का नाम अग्रसेन चैक के नाम से नगर निगम द्वारा प्रस्तावित करने पर सत्तारूढ़ विधायक सहित धोबी समाज ने विरोध प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम मंडलायुक्त के माध्यम से ज्ञापन भेजा हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा किये जा रहे नाम परिवर्तन के सिलसिले में झाँसी जनपद मुख्यालय में धोबी समाज मे जन्मे  स्वच्छता के जनक राष्ट्र संत गाडगे जी महाराज के नाम से स्थित चैराहे का नाम भी जुड़ गया है जिसका नाम अग्रसेन चैक करने का प्रस्ताव नगर निगम द्वारा को भेजा जा चुका है। नगर निगम द्वारा किये गए इस प्रस्ताव के विरोध में बहुजन समाज के साथ ही सत्तारूढ़ दल के विधायक ने भी नगर में हजारों की संख्या में पैदल मार्च निकाल कर विरोध जताया। ज्ञात हो कि पिछली सरकार में मंत्री रहे भगवती प्रसाद सागर के अथक प्रयासों के चलते देश की सबसे बड़ी संत गाडगे प्रतिमा की स्थापना झाँसी जिले में की गई थी साथ उस चैराहे का नामकरण संत गाडगे चैराहे के नाम से किया गया था। लेकिन हाल ही में नगर निगम झाँसी द्वारा एक प्रस्ताव पारित कर उक्त चैराहे का नाम परिवर्तित करके अग्रसेन चैराहा के नाम से प्रस्तावित किया है। जिसके विरोध में अखिल भारतीय संत गाडगे बाबा साहब मिशन व अखिल भारतीय धोबी महासंघ के तत्वाधान में धोबी समाज ने एक पैदल मार्च के रूप में विरोध प्रदर्शन किया, जो मुक्ताकाशी मंच से चलकर इलाइट, चित्रा चैराहे होते हुए मंडलायुक्त कार्यालय पर समाप्त हुआ। जुलुस में चल रही सैकड़ो महिलाये एवं सभी व्यक्ति संत गाडगे महाराज की फोटो व विरोध स्वरूप तख्तियों के साथ चल रहे थे। भगवती प्रसाद सागर बिल्लोर विधायक के नेतृत्व में दिलीप चैधरी लखनऊ, बंशी बाबूजी ललितपुर (जिला पंचायत सदस्य), डा. रमेश श्रीवास मऊरानीपुर, राजेन्द्र रजक ललितपुर, रतनलाल आनंद, झाँसी के साथ मुख्यमंत्री के नाम मंडलायुक्त को ज्ञापन सौप कर अवगत कराया गया कि संत गाडगे महाराज के साथ समाज की गहरी आस्था जुड़ी हुई है जिससे चैराहे का नाम परिवर्तन होने से समाज के लोगो मे भारी आक्रोश व्याप्त है इसलिए संत गाडगे चैराहा का नाम यथावत रहने दिया जाए एवं सरकार द्वारा बहुजन महापुरुषों की अनदेखी कर उनका अपमान न किया जाए। यदि वर्तमान सरकार द्वारा बहुजन महा पुरुष संत गाडगे महाराज का अपमान किया तो उसकी ये लायक संताने अपने महापुरुष का अपमान बर्दास्त नही करेंगी जिसके लिए कड़ा विरोध किया जाएगा। साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि नगर निगम द्वारा पारित किए गए प्रस्ताव पर पुनर्विचार नही किया गया तो धोबी समाज के साथ ही बहुजन समाज एक बड़ा आंदोलन करेगा। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से अखिल भारतीय धोबी महासभा से हरिमोहन श्रीवास (पूर्व प्रदेश संगठन मंत्री), मोहन पहलवान झाँसी, विजय प्रताप सिंह उर्फ बच्चा भैया, कैलाश श्रीवास झाँसी, महेश शंकर वीडियो, कैलाश कनोजिया लखनऊ, अजय पठा, डा. रमेश श्रीवास, बंशी बाबूजी, डॉ सिद्धार्थ बरुआसागर, राजेन्द्र रजक, राजेन्द्र प्रधान,अरविंद श्रीवास पार्षद,रामाधर मबई, रामपाल प्रधान, राकेश पहलबान, चिंतामन श्रीवास पार्षद, सीताराम श्रीवास (नवयुवक रजक समाज सेवा समिति), परमानंद श्रीवास (राष्ट्रीय रजक महासंघ भारत), राजेन्द्र भारती, के एल श्रीवास, के पी श्रीवास, द्वारका गुलारा, मोनू गुलारा (गाडगे यूथ विग्रेड), राघवेंद्र कडकरी, रोहित श्रीवास ध्वानी, हेमंत श्रीवास शिवाजी नगर,जीतू श्रीवास, अजय श्रीवास टांकोरी, नरेश श्रीवास कौंच जालौन, संजय श्रीवास आईटीआई, एड सत्येंद्र सौलंकी ,पप्पू, लखन श्रीवास पार्षद, सहित सैकड़ों महिलाएं व मऊरानीपुर, ललितपुर, दतिया, महोबा, जालौन से संत गाडगे के अनुयायी उपस्थित रहे