ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
सर्वधर्म समभाव व भाईचारा का संदेश देती झाँकी
January 26, 2020 • समाचार

‘वसुधैव कुटुम्बकम’ विषय पर आधारित सिटी मोन्टेसरी स्कूल लखनऊ की अनूठी झाँकी गणतन्त्र दिवस परेड में प्रदर्शन की यह झाँकी रवीन्द्रालय, चारबाग, लखनऊ पर खड़ी है, जहाँ बड़ी संख्या में लखनऊवासी इस झाँकी को देखकर इससे प्रेरणा ग्रहण कर रहे हैं। आज यहाँ ‘झाँकी स्थल’ रवीन्द्रालय पर आयोजित एक प्रेस वार्ता में झाँकी के विभिन्न पहलुओं से पत्रकारों को अवगत कराते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने बताया कि सी.एम.एस. की यह झाँकी सर्वधर्म समभाव, आपसी भाईचारा व विश्व को परिवार स्वरूप मानते हुए मानव मात्र से प्रेम व सेवा करने का संदेश देती है। डा. गाँधी ने आगे कहा कि कल 26 जनवरी को गणतन्त्र दिवस परेड में यह झाँकी ‘सर्वधर्म समभाव’, ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ एवं ‘जय जगत’ का अलख जगाकर विश्व एकता व विश्व शान्ति का परचम लहरायेगी।
 पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए डा. गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. की यह झाँकी मात्र प्रदर्शन भर के लिए नहीं है अपितु इसके पीछे एक उद्देश्य है कि सम्पूर्ण मानव जाति के हृदय में प्रेम व एकता की भावना को जगाकर पृथ्वी पर आध्यात्मिक सभ्यता की स्थापना की जाये। सी.एम.एस. की यह प्रेरणादायी झाँकी जन-मानस को ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना को आत्मसात करने का संदेश देने के साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के बताये रास्ते पर चलने की प्रेरणा देती है। डा. गाँधी ने कहा कि महात्मा गाँधी के 150वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में सिटी मोन्टेसरी स्कूल बापू के सत्य, अहिंसा, एकता व शान्ति के विचारों को सारे विश्व में प्रचारित-प्रवाहित कर रहा है और यही विचार सम्पूर्ण जनसमुदाय को देगी। 
 झाँकी की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए डा. गाँधी ने बताया कि इस झाँकी में एक बच्चा ग्लोब उठाये हुए सारे विश्व को ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ की शिक्षा दे रहा है तो वहीं दूसरी ओर अनेकता में एकता का प्रदर्शन करते हुए एक ही छत के नीचे मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर, गुरूद्वारा, बौद्ध विहार, बहाई मंदिर आदि विभिन्न पूजा स्थल दिखाये गये हैं, जो यह संदेश दे रहा है कि सभी धर्मों का स्रोत एक ही परमपिता परमात्मा है। इसी छत के नीचे सी.एम.एस. के बच्चे ‘‘जय जगत... जय जगत... जय जगत पुकार रे जा, दूसरे के सुख के वास्ते अपना सुख विसारे जा......’’ गीत पर नृत्य प्रस्तुत कर रहें है। इसी झाँकी में एक बच्चा महात्मा गाँधी के रूप में ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ एवं ‘जय जगत्’ का संदेश जन समुदाय में पहुँचा रहा है, तो वहीं दूसरी ओर महात्मा गाँधी की भव्य आदमकद प्रतिमा के माध्यम से विश्व में शांति, सुरक्षा, व्यवस्था और विकास के लिए ‘विश्व संसद’ की स्थापना पर जोर दिया है।
 सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि गणतंत्र दिवस परेड के उपरान्त यह झाँकी 27 जनवरी से 3 फरवरी तक सी.एम.एस. कानपुर रोड प्रांगण में लखनऊ के सभी बच्चों, अभिभावकों, शिक्षकों व आम जनता के लिए निःशुल्क अवलोकनार्थ रखी जायेगी, जिससे लखनऊ के अन्य विद्यालयों के छात्र व आम जनता इस प्रेरणादायी झाँकी से शिक्षा ग्रहण कर सकें।