ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
उज्जवला योजना की समीक्षा
March 16, 2020 • पंकज भारती - ब्यूरो चीफ झांसी • News

जनपद झांसी में 186731 संयोजन उज्जवला योजनान्तर्गत दिये गये है, जल्द ही जांच करने के निर्देश। यदि अपात्र को योजना का लाभ दिया गया है तो सम्बन्धित एजेन्सी के विरुद्व वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास सभागार में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की समीक्षा बैठक में अध्यक्षता करते हुये व्यक्त किये। उन्होने जनपद की 43 गैस ऐजेन्सी को सीधे निर्देश दिये कि अपात्र को आपने लाभ दिया है तो उसे तत्काल हटा ले अन्यथा कठोर कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा समाज के गरीब महिलाओ को परम्परागत चूल्हे पर भोजन पकाते समय लकड़ी, कोयला एवं उपले आदि से उत्पन्न होने वाले धुओं से जनित कैंसर, अस्थमा, क्षयरोग तथा  बच्चो को होने वाले निमोनिया से निजात दिलाने हेतु महिलाओं को परिवार की आर्थिक सहभागिता में हाथ बांटने एवं उनके चेहरे पर खुशी लाने के उददेश्य से 1 मई 2016 को महत्वाकांक्षी उज्जवला योजना का शुभारम्भ किया गया। इस योजना में गरीब परिवार की महिलाओं के नाम से निःशुल्क एलपीजी कनैक्शन उपलब्ध कराया गया है ताकि महिलाओ एवं बच्चो के स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ से निजात मिल सके, परन्तु लगातार शिकायते प्राप्त हो रही है कि सूची में शामिल पात्र महिलाओं को गैस संयोजन नही दिये गये जा रहे और अपात्र को सूची में शामिल करते हुये लाभान्वित किया जा रहा है।
जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने उज्जवला योजना की समीक्षा करते हुये नाराजगी व्यक्त की और एक माह का समय देते हुये समस्त एजेन्सी संचालकों को निर्देश दिये कि आप योजनान्तर्गत लाभाार्थियों का सत्यापन कर ले और यदि अपात्र को लाभान्वित किया गया है तो उन्हे हटाते हुये पात्र को पात्रता सूची में शामिल करे और गैस कनैक्शन दे, अन्यथा प्रत्येक गैस एजेन्सी की जांच होगी और गड़बडी पाये जाने पर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।बैठक में डीएसओ तीर्थराज यादव ने बताया कि जनपद में उज्जवला योजनान्तर्गत कुल 1,86,731 गैस संयोजन है। जिसमें भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन 1,12,221, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन 37,926 तथा इण्डियन आॅयल कारपोरेशन के 36584 निःशुल्क गैस संयोजन है। सभी कम्पनियां ग्रामवार सूची उपलब्ध कराये ताकि संयोजन सत्यापन कराया जा सके। जिले में बीपीसी की 22, एचपीसी की 8 तथा आईओसी की 13 एजेन्सी है।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकराम फुंडे, एडीएम राम अक्षयवर चैहान, एसडीएम मोंठ मंजूर अहमद, मऊरानीपुर अंकुर श्रीवास्तव, टहरौली शशिभूषण, मैनेजर सेल्स बीपीसीएल वरुण सिंह, एचपीसी शैलेष कुमार, आईओसी हर्ष गुप्ता सहित पूर्ति निरीक्षक व एजेन्सी संचालक उपस्थित रहे।