ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिलाधिकारियों को दिए निर्देश
April 10, 2020 • पंकज भारती - ब्यूरो चीफ झांसी • News

झांसी। प्रदेश में कोई भूखा ना रहे। अपंजीकृत श्रेणी के देहाड़ी मजदूर, छोटे व्यवसाय में काम कर रहे श्रमिक जिन्हें लॉक डाउन के कारण जीवनयापन में अधिक समस्या है, उन्हें अभियान चलाकर उनका पंजीकरण कराएं ताकि उन्हें रू. 1000 मानदेय के रूप में खातों में हस्तांतरण किया जा सके।
यह निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि व्यापक स्तर पर अभियान चलाकर अपंजीकृत श्रेणी के श्रमिकों को चिन्हित करते हुए उनका श्रम विभाग ध्डूडा में  पंजीकरण कराएं। 
मुख्यमंत्री ने वीसी के माध्यम से निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बचाव हेतु लॉक डाउन किया गया। लॉक डाउन से दिहाड़ी मजदूर, रेहड़ी व्यवसायी, छोटे-छोटे व्यवसाय में काम कर रहे श्रमिकों को व्यवसाय बंद होने से आर्थिक समस्या हो रही है, ऐसे को सरकार द्वारा प्रतिमाह रु.1000  मानदेय स्वरूप दिया जा रहा है। यह सरकार की ओर से एक प्रयास है कि उन्हें अपने जीवनयापन में कठिनाई न हो। उन्होंने ऐसे श्रमिकों व उनके परिवार को सामुदायिक रसोई से भोजन आपूर्ति करने की भी निर्देश दिए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिलाधिकारी ने जनपद में किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि अब तक 21,758 अपंजीकृत श्रेणी वाले श्रमिकों का पंजीकरण करा लिया गया है। यह प्रक्रिया सतत रूप से निरंतर चल रही है। उन्होंने बताया कि जनपद में निर्माण कार्यों से जुड़े 7758 श्रमिकों को भी डीबीटी के माध्यम से नामित किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में 5500 पंजीकृत राजमिस्त्री और 19,500 दिहाड़ी वर्ग के श्रमिकों ध्सदस्यों को डीबीटी के माध्यम से रू.1000 के खाते में हस्तांतरण किए जा चुके हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि पीओ डूडा, श्रम विभाग, नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत, वीडीओ, एसडीएम, मा प्रतिनिधि, एआरटीओ, सचिव मंडी आदि के माध्यम से भी अभियान चलाते हुए श्रमिकों को चिन्हित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद को 10 करोड़ की धनराशि प्राप्त हुई थी, जिसके सापेक्ष अब तक 2.3 करोड़ रुपये खातो में हस्तांतरित कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को पंजीकरण, आधार सीडिंग व बैंक खाता स्क्रीनिंग और डीवीडी हस्तांतरण हेतु नोडल अधिकारी बनाया गया है। इस मौके पर जिलाधिकारी  आंद्रा वामसी, नगर आयुक्त  मनोज कुमार सिंह, एडीएम राम अक्षयवर चैहान, अपर नगर आयुक्त रोहन सिंह, पीओ डूडा श्रीमती संगीता सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।