ALL News Religion Views Health Astrology Tourism Story Celebration Film/Sport Vedio
विनोद वाजपेयी व उनके परिजनों पर जानलेवा हमला
March 12, 2020 • रायबरेली। • News

रंगोत्सव के अवसर पर भाजपा नेता, समाजसेवी विनोद कुमार बाजपेयी एवं उनके परिजनों पर जान लेवा हमला। मामले का एफआईआर दर्ज एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर भेजा गया जेल। सेवा भारती के जिला प्रमुख एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, समृद्धि गैस सर्विस के स्वामी विनोद कुमार बाजपेयी अपने पैतृक गाँव होली के अवसर पर फाग कार्यक्रम में शामिल हुए थे। दो दिवसीय फाग समारोह का समापन की स्थिति में था तभी पड़ोस गाँव के 25 से 30 लोग लाठी डन्डो से लैस होकर अचानक हमला बोल दिये। यह सभी निहत्थे थे होली की खुशिया मना रहे थे। एका-एक हुए हमले से सभी हैरान रह गये और इन्हे संभलने का मौका तक नहीं मिला सभी को गम्भीर चोटे आयी। जिसमें प्रमुख रूप से विनोद कुमार वाजपेयी 65 वर्ष, सरोज कुमार वाजपेयी 50 वर्ष, सुबोध कुमार वाजपेयी 42 वर्ष पुत्रगण स्व0 रामशंकर वाजपेयी, प्रणव प्रकाश वाजपेयी 36 वर्ष पुत्र विनोद कुमार वाजपेयी, सुरेश चन्द्र वाजपेयी 32 वर्ष पुत्र महेश नारायण वाजपेयी, संदीप कुमार वाजपेयी 26 वर्ष पुत्र अनिल कुमार वाजपेयी, दीपेन्द चन्द वाजपेयी 27 वर्ष पुत्र दिनेश चन्द वाजपेयी सभी निवासी हमीर गाँव थाना सरेनी, जनपद रायबरेली। 
घटना के बाद 112 पर सूचना दी गयी मौके पर सरेनी थाना के पुलिस बल मौके पर पहुॅचकर उपरोक्त समस्त घायलों की गम्भीरता को देखते हुए उपचार हेतु जिला अस्पताल भेज दिया। जिला अस्पताल में दीपेन्द्र चन्द्र बाजपेयी की हालत बिगड़ते हुए देखकर उसे मेडिकल कालेज लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया है। जबकि बाकी 6 घायलों का उपचार जिला चिकित्सालय के आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में चल रहा है। थाना सरेनी को प्राथमिकी दर्ज करने के लिए तहरीर दी गयी जिसके आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। हमलावर पड़ोस के चिता का पुरवा गाॅव निवासी शैलेन्द्र सिंह, भूपेन्द्र सिंह पुत्रगण रज्जन सिंह, शिवेन्द्र सिंह पुत्र रमेश सिंह, रामानंद पुत्र रामलखन पर सरेनी थाना द्वारा धारा 147, 148, 307, 323, 504, 505 में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। एक अभियुक्त भूपेन्द्र सिंह पुत्र रज्जन सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया बाकी अभियुक्त अभी भी फरार है।
होली के अवसर पर इस प्रकार का जानलेवा हमला यह साबित करता है कि यह पूर्व नियोजित था। प्राप्त जानकारी के अनुसार चिता के पुरवा निवासी के ऊपर किसी ने रंग फंेक दिया। मौसम को देखते हुए रंग में पानी नहीं मिलाया गया था। इसी के बाद उपरोक्त अभियुक्तों के साथ लगभग 30 लोग हमीर गांव हो रहे कार्यक्रम जो समाप्ति के ओर था कुल आदमियों की संख्या 8-10 रही होगी। तभी अचानक हमला कर दिया गया। जिस प्रकार से हमला किया गया उससे साबित होता है कि यह हमला पूर्वनियोजित थी, पूरी तैयारियों के साथ डण्डे स शस्त्रों से लैस हमलावर आये थे। इस घटना से सरेनी क्षेत्र ही नहीं बल्की पूरे जनपद में आलोचना हो रही है। जनता कठोर से कठोर कार्यवाही की उम्मीद पुलिस प्रशासन से लगा रही है।